परिचर्चा: कितने जिम्मेदार हैं हम…..श्रीमती हंसा शुक्‍ला

पर्यावरण प्रदूषण के लिये सरकार, निगम, उद्योग, कारखाना या दूसरों को दोषी ठहराने से पहले हमें स्‍वआकलन करना हो कि पर्यावरण के लिए हम स्‍वयं कितने जिम्‍मेदार हैं। निम्‍न कार्यो को अगर हम ईमानदारी से […] Read More

आयोजन 5 परिचर्चा: कितने जिम्मेदार हैं हम के ”प्रतिभागी”

300साहित्‍यकारों की दुनिया पोर्टल पर होने वाले पाक्षिक आयोजन के जनवरी द्वितीय आयोजन संख्‍या -5 में इस बार परिचर्चा का विषय था कितनें जिम्‍मेदार हैं हम पर्यावरण प्रदूषण के लिए, इस बार कुल 9 प्रविष्टियाँ […] Read More

परिचर्चा: कितने जिम्मेदार हैं हम…..रीता जयहिंद हाथरसी

ये एक बहुत महत्वपूर्ण सवाल है कि हम कितने जिम्मेदार है पर्यावरण प्रदूषण के लिए ,,,सबसे पहले मेरे विचार से कि हम ही सबसे ज्यादा जिम्मेदार हैं क्योंकि मनुष्य ही एकमात्र ऐसा प्राणी है ईश्वर […] Read More

परिचर्चा: कितने जिम्मेदार हैं हम…..संजय वर्मा “दॄष्टि “

कितने जिम्‍मेदार हैं हम पर्यावरण प्रदूषण के लिए ऋतुओं में आने लगे बदलाव से अनेक चिंतनीय प्रश्न खड़े हुए है | मौसमों में ज्यादा बदलाव यानि अधिक गर्मी और ठंड |क्या ,मौसम के निर्धारित माह अपने […] Read More

परिचर्चा: कितने जिम्मेदार हैं हम…..विजयानंद विजय

हम लाख कहें खुद को ज्ञानी हम दंभ भरें मानवता का। हैं काट रहे उस डाली को जिस पर बैठे हैं आज सभी। इस पर्यावरण को अगर किसी ने सबसे ज्यादा नुकसान पहुँचाया है, तो […] Read More

परिचर्चा: कितने जिम्मेदार हैं हम…..डा०भारती वर्मा बौड़ाई

       प्रकृति से निरंतर लेते रहने की मनुष्य की प्रवृत्ति के कारण आज कई विषय चिंतनीय ही नहीं बल्कि चिंता का कारण बन गए है। पर्यावरण को बचाना एक अहम मुद्दा है हम […] Read More

परिचर्चा: कितने जिम्मेदार हैं हम…..दीपासंजय*दीप*

प्रदूषण नाम का धीमा जहर  हवा, पानी, धूल आदि के माध्यम से मनुष्य के शरीर में प्रवेश कर उसे रुग्ण बना देता है।पर्यावरण संसाधनों के अंधाधुंध उपयोग से हमने पारिस्थितिक संतुलन को काफ़ी हद तक […] Read More

परिचर्चा: कितने जिम्मेदार हैं हम…..अशोक सपड़ा

गर कोई मुझसे ये पूछे कि प्रदूषण के लिए क्या हम ही जिम्मेदार है और कितने तो मेरा जवाब यही होगा हाँ हम ही इसके लिये सबसे बड़े जिम्मेदार भी है और अब इसको कम […] Read More

परिचर्चा: कितने जिम्मेदार हैं हम…..रेखा दुबे

‘आधुनिकता की ओर अमोघ गति से दौड़ता भारत कब आ गया पर्यावरण प्रदूषण की चपेट में पता ही नहीं चला”,कई लोगों के मन में प्रशन उठता है आखिर यह पर्यावरण प्रदूषण क्या है,क्यों होता है […] Read More

परिचर्चा: कितने जिम्मेदार हैं हम…..चन्द्रकांता सिवाल चन्द्रेश

मानव जीवन में अगर देखा जाय तो पर्यावरण का विशेष महत्व है, पर्यावरण से हमारा तात्प्रय वह स्थान जहाँ हम रहते हैं जिस वायु में हम सांस लेते हैं, हमारे आस पास का वह परिवेश […] Read More