पुस्‍तक समीक्षा

संसार में मानवीय विस्तार करेंगी लघुकथा संग्रह एक लोहार की: कान्ति शुक्ला।

श्री घनश्याम मैथिल अमृत का सद्य प्रकाशित और लोकार्पित लघुकथा संग्रह भेंटस्वरूप प्राप्त हुआ । संग्रह की समीक्षा मेरे विचारानुसार प्रस्तुत है.- साहित्य में मानव जीवन के समस्त पहलुओं की विवृत्ति होती है और यही […] Read More