जो पाकिस्‍तान की करें पैरवी-अशोक सपड़ा
जो पाकिस्तान की पैरवी करें उन्हें भारत से भगाना होगा
बहुत हुआ भाईचारा इन जैसों से ,इन्हें अब मिटाना होगा
अब इनकी दहशतगर्दी से भरा अखबार नहीं खरीदेंगे हम
सरेबाज़ार में इनकी गुंडागर्दी का बाज़ार हमें गिराना होगा
जो कहतें है भगवा की देश मे जगह नहीँ मिटा देंगे इसको
ऐसे मानसिकता के बीमारों का इलाज़ अब करवाना होगा
शिकस्तो की कहानी यहाँ कोई नहीं सुनता सुनलों साथियों
क़लम को बनाकर हथियार साहित्यकारों को उठाना होगा
फिर कोई बुरी नज़र से ना देखे हमारे प्यारे अहदे वतन को
दफना देंगे उन्हें इतना ,जितना नहीं यहाँ कब्रिस्ताना होगा
कमल हासन तू क्या मिटाएगा हम भगवाधारियों को यहाँ
तुझे कर देंगे हरे से भगवा खत्म तेरा फ़िर बदगुमाना होगा
हम महाराणा प्रताप और छत्रपति शिवाजी के वंशज ठहरें
जहाँ चाहेंगे हम अपना वही पर एक नया आशियाना होगा
तू ठहरा लुटेरे चंगेज खान की औलाद कमल हासन सुनलें
ना हमदर्दी तुझसे हंमें कोई तू मेरी बंदूक का निशाना होगा
सुनो गौर से ए दुनियाँ वालों अशोक महाँ था महान रहेगा
जब चाहेगा यह हिंदु रावलपिंडी तक तिरँगा लहराना होगा
अशोक सपड़ा हमदर्द की क़लम से

Leave a Reply

%d bloggers like this: