विश्व पुस्तक मेला का शानदार आगाज

मेले विचार व्‍यक्‍त करते सुभाष चन्‍दर जी

नई दिल्‍ली। दिल्‍ली के प्रगति मैदान में 6 जनवरी से 14 जनवरी तक चलने वाले विश्‍व पुस्‍तक मेले का आज शुभारंभ हुआ। मेले के लेखक मंच पर कार्यक्रमों का आरंभ व्यंग्य संबंधी पुस्तकों और व्यंग्य परिचर्चा से किया गया।‘ हॉल संख्या 12 ‘ के लेखक मंच पर व्यंग्य पुस्तकों के लोकार्पण से साहित्यिक कार्यक्रमों का शुभारम्भ हुआ । हिन्दी व्यंग्य का इतिहास के लेखक व प्रख्यात व्यंग्यकार सुभाष चन्दर द्वारा सम्पादित और भारत पुस्तक भण्डार, दिल्ली द्वारा प्रकाशित ‘ गौरतलब व्यंग्य ‘ पुस्तक श्रृंखला के अंतर्गत प्रख्यात व्यंग्यकारों की रचनाओं को प्रकाशित किया गया । इनमें गोपाल चतुर्वेदी, ज्ञान चतुर्वेदी, हरीश नवल, सुभाष चन्दर, आलोक पुराणिक, शशिकान्त ‘ शशि ‘ की संकलित रचनाएं शामिल हैं ।
इस कार्यक्रम में हरीश नवल, प्रेम जनमेजय, सुरेश कांत, श्रवणकुमार उर्मलिया, सुभाष चंदर, रमेश तिवारी की मौजूदगी और वक्तव्य महत्वपूर्ण उपलब्धि रही । इस दौरान व्यंग्य के वर्तमान दौर, सरोकार-शिल्प संबंधी चिंताओं पर भी चर्चा की गई ।

2 thoughts on “विश्व पुस्तक मेला का शानदार आगाज”

  1. रमेश तिवारी कहते हैं:

    शानदार आयोजन, साक्षी होने का अवसर मिला। इस अवसर पर अर्चना चतुर्वेदी, कमला सिंह जीनत, रमा नीलदीप्ति, सुभाष नीरव, भगवती प्रसाद निदारिया, इंद्रमणि उपाध्याय, अनिल उपाध्याय आदि मित्रों की मौजूदगी उत्साहवर्धक रही।

  2. शशि कुमार सिंह कहते हैं:

    विश्व पुस्तक मेले की इतनी शानदार कवरेज के लिए बधाई.और विशेष बधाई इसलिए कि आपने व्यंग्य विधा और उसके सेवियों को इतनी तवज्जो दी.

Leave a Reply

%d bloggers like this: